हिंदी शोध संसार

रविवार, 24 जनवरी 2010

भयंकर भूल पर भी अफसोस नहीं

7
6
5
4
3
2
1
इस विज्ञापन से महिला एवं बच्चों का कितना कल्याण हुआ, विज्ञापन देने वाला मंत्रालय यानी महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भी इसे अच्छी तरह जानता है. लेकिन इस विज्ञापन ने पूरे देश में सनसनी मचा दी है. वायु सेना ने भी इस विज्ञापन पर आपत्ति जताई है. आखिर क्या है इस विज्ञापन में.
इस विज्ञापन में बालिकाओं की सुरक्षा, भ्रूण हत्या रोकथाम संबंधी संदेश दिए गए हैं. लेकिन ये संदेश कौन कौन से लोग दे रहे हैं उनकी सूची देखिए-
  • कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमति सोनिया गांधी
  • प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह
  • केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्ण तिरथ
  • क्रिकेटर कपिलदेव
  • पाकिस्तान के पूर्व वायुसेनाध्यक्ष अब्दुल अहमद
आजकल देश में इंपोर्ट के माल का ज्यादा प्रचलन है, इसलिए हम संदेश देने के लिए भी राजदूत आयात करके लाते हैं, वो दुश्मन देश पाकिस्तान से. किसी आम नागरिक या सामाजिक कार्यकर्ता को नहीं, बल्कि सेना के अधिकारी को, जो हमेशा हिंदुस्तान को नस्तनाबूत करने का ख्वाब देखता है.
वायुसेना ने इस विज्ञापन पर आपत्ति जताई, मीडिया में खूब शोर हुआ. प्रधानमंत्री कार्यालय ने तुरंत माफी मांग ली और मामले की जांच के लिए आयोग का गठन कर दिया गया लेकिन, केंद्रीय मंत्री महोदया माफी मांगने के लिए तैयार नहीं, उनका कहना है कि संदेश महत्वपूर्ण है, न संदेश देने वाला. आप इन्हें समझा तो कई नहीं सकते.
कैसे कैसे लोग हम पर शासन कर रहे हैं, कैसे कैसे लोग हमारी नियति नियंता हैं, भगवान ही रक्षा करे इस देश की.

1 टिप्पणी :

  1. है न. कृष्ना जी ने कहा है कि बाजपेई जी की सरकार के द्वारा भी ऐसी गलती की जा चुकी है. अगर वह गड्ढे में गिरे तो कृष्णा जी ऐसा क्यों नहीं कर सकतीं.

    उत्तर देंहटाएं